Gulzar Shayari | Gulzar Quotes On Life | Gulzar Poetry 

 

Gulzar Shayari | Gulzar Quotes On Life | Gulzar Poetry 

गुलजार के नाम से पहचाने जाने वाले सम्पूरन सिंह कालरा भारत के एक जाने माने कवी, लेखक दिग्दर्शक हैं. पर उनकी मुख्यपहचान हैं एक कवी के रूप में हैं, उनकी कवितावों को लोगो में बेहत पसंद किया जाता हैं. गुलज़ार जी को साहित्य अकादमी अवार्ड (2002 ), पद्म भूषण (2004 ), दादासाहेब फाल्के अवार्ड (2013) जैसे बड़े अवार्ड से नवाजा जा चूका हैं.आज आपके लिए लेकर आये हैं गुलज़ार साहब की कुछ बेहतरीन शायरी, कोट्स, कविताये जिन्हे पढ़ आप उनमे खो जायेंगे. पोस्ट अच्छी लगे तो मित्रो और परिजनों से भी शेयर करे. धन्यवाद् ! 

 

Gulzar Shayari
Gulzar Shayari

“उंगलिया यूँ सब पर न उड़ाया करो खर्च करने से पहले कमाया करो, जिंदगी क्या हैं खुद ही समझ जाओंगे बारिश में कभी पतंगे उड़ाया करो”

Ungaliya yun sab par n udaya karo kharch karane se pahale kamaya karo,Jindagi kya hain khud hi samajh jaonge barish me kabhi patange udaya karo.


 
“दोस्ती रूह में उतरा हुआ रिश्ता हैं साहब, मुलाकाते कम होने से दोस्ती कम नहीं होती”
 
Dosti ruh me utara huaa rishta hain sahab, MUlakate kam hone se dosti kam nahi hoti.
 

 
“उजाले  में तो मिल ही जायेगा कोई  न कोई, तलाश उसकी करो जो अँधेरे में भी साथ निभाए”
 
Uajale me to mil hi jayenga koi n koi, talash usaki karo jo andhere me bhi sath nibhaye.

Gulzar Quotes
Gulzar Quotes

“एक ही दर्द की छाव तले,  कौन थे वो जो गले मिले, उनमे कोई अजनबी था क्या? साथ साथ जो साथ चले”

Ek sath dard ki chav tale, kaun the wo jo gale mile, Uname koi ajnabi tha kya? sath sath jo sath chale.


“दरारे अपनो में इस कदर न पड़ने देना की मरम्मत के लिए गैरो की जरुरत पड जाए”


Darare apano me is kadar n padane dena ki marammat ke liye gairo ki jarurat pad jaye.


“उफ़्फ़ ये रंग छूट ही नहीं रहा, हमने कहा था पानी मिलाना तुमने प्यार मिला दिया।

Uff ye rang chut hi nahi raha, hamane kaha tha pani milana tumane pyar mila diya.


Gulzar Poetry
Gulzar Poetry

“कहने वालो का कुछ नहीं जाता, सहने वाले कमाल करते हैं, कौन ढूंढे जवाब दर्दो के, लोग तो बस कहते रहते हैं.”

Kahane walo ka kuch nahi jata, Sahane wale kamal karte hain, Kaun dhundhe javab dardo ke, Log to bas kahate rahate hain 


 
“मैं  भिकारी भी बन जाऊ तेरी खातिर, कोई डाले तो सही तुझे मेरी झोली में.”
 
Main bhikari bhi ban jau tere khatir,Koi daale to sahi tuze mere zoli me
 


“कलम से लिखने का रिवाज फिरसे आना चाहिए, चैटिंग की दुनिया बड़ा फरेब फैला रही हैं”
 
Kalam se likhane ka riwaz firse ana chahiye, Chatting ki duniya bada fareb faila rahi hain.  
 

Gulzar Shayari
Gulzar Shayari

“अक्सर जिंदगी के रिश्ते इसलिए सुलझ नहीं पाते हैं, क्योकि लोग गैरो की बातों में आकर अपनो से  उलझ जाते हैं”

Aksar jindagi ke rishte isliye nahi sulajh nahi paate hain, Kyoki log gairo ki baato me aakar apano se ulajh jaate hain.


“अब ये ना पूछना के ये अल्फाज कहा से लाता हूँ, कुछ चुराता हूँ दर्द दुसरो के कुछ अपना हाल सुनाता हूँ.

Ab ye naa puchana ke ye alfaaj kaha  se lata hu, Kuch churata hu dard dusaro ke kuch apana haal sunata hu.


“झूट बोल कर तो  हम भी दरिया पार कर जाते, हमें तो डुबो दिया हमारी सच बोलने की आदत ने”

Zhut bol kar to ham bhi dariya paar kar jaate, Hame to dubo diya hamari sach bolane ki aadat ne.


Jindagi Gulzar Hai
Jindagi Gulzar Hai

“खामोश-सा अफसाना पानी से लिखा होता न तुमने कहा होता न हमने सुना होता, दिल की बात न पूछो दिल तो आता रहेंगा, दिल बहकता रहा हैं दिल बहकता रहेंगा”

Khamosh sa afasana pani se likha hota n tumane kaha hota na hamane suna hota, Dil ki baat n pucho dil to ata rahenga, Dil bahakata raha hain dil bahakata rahenga.


“कभी मिलने का मन करे तो आजाना, घर पर नहीं, घर के नजदीक वाले कब्रिस्तान में, कुछ बोलूंगा तो नहीं पर महसूस कर सकूंगा”

Kabhi milane ka man kare to aajana, Ghar par nahi, Ghar ke najdik vaale kabristaan me kuch bolunga to nahi par mahasus kar sakunga.


“तुम पूछो और मैं न बताऊ, ऐसे तो हालात नहीं, एक जरा सा दिल टुटा हैं, और तो कोई बात नहीं”

Tum pucho aur main n batau, Aise to halat nahi, Jara sa dil tuta hain aur to koi baat nahi.


Gulzar Quotes
Gulzar Quotes

“वो वक्त गुजर गया जब मुझे तेरी आरजू थी, अब तो तू खुदा भी बन जाये तो मैं सजदा ना करू”

Wo vakt gujar gaya jab muze teri aaraju thi, Ab to tu khuda bhi ban jaaye to main sajda na karu


“जो हैरान हैं मेरे सब्र पर, उनसे कह दो जो आंसू जमीं पर नहीं गिरते वो अक्सर दिल चिर देते हैं”

Jo hairan hain mere sabar par, Unase kah to jo aansu jami par nahi girate wo aksar dil chir dete hain.


“लाख सवार लो तुम अपने जिस्म को , मोहब्बत तो तुम्हारे अल्फाजो से ही करते हैं”

Laakh sawar lo tum apane jism ko, Mohabbat to tumhare alfajo se hi karate hain.


Gulzar Shayari | Gulzar Quotes On Life | Gulzar Poetry 

Gulzar Shayari
Gulzar Shayari

“बदले बदले से हो जनाब क्या बात हो गयी, शिकायत हमसे हैं या किसी और से मुलाकात हो गयी”

Badale badale se jo janaab kya baat ho gayi, Shikayat hamase hain yaa kisi aur se mulakt ho gayi.


“गुफ्तगू तुझसे कभी यूँ ही कर लेते हैं, हम ही कह देते हैं हम ही सुन लेते हैं’

Guftagu tuzase yu hi kar lete hain, ham hi kah dete hain ham hi sun lete hain.


“कितनी  खूबसूरत हो जाती हैं ये दुनिया, जब अपना कोई कहता हैं की तुम याद आ रहे हो”

Kitane khubsurat ho jaati hain ye duniya, Jab apana koi kahata hain ki tum yaad aa rahe ho.


Gulzar Poetry
Gulzar Poetry

“हवा के सींग न पकड़ो खदेड़ देती हैं, जमी से पेड़ो के टाके उधेड़ देती हैं, मैं चुप कराता  हु हर शब् उमड़ती बारिश को, मगर ये रोज गयी बात छेड देती हैं”

Hawa ke sing n pakado khaded deti hain, Jami se pedo ke taake udhed deti hain, Main chup karata hu har shab umadti barish ko, Magar ye roj gayi baat ched deti hain.


“पतझड़ में तो  सिर्फ पत्ते गिरते हैं, नजरो से गिरने का कोई मौसम तो नहीं होता”

Patzad me to sirf patte girate hain, Najaro se girane ka koi mausam nahi hota.


“काश गिरफ़्तारी तेरी  नजरो में होती, तो हम दिल को उम्र कैद की सजा दिलवा देते।”

Kash giraftari teri najaro me hoti, to ham dil ko umra kaid ki saja dilawa dete.


“मुझसे नफ़रत तभी करना जब तूम मेरे बारे में सब कुछ जानते हो तब नहीं जब किसी से कुछ सुना हो”                                                                                                       

Muzase nafarattabhi karana jab tum mere baare me sab kuch janate ho jab nahi jab kisi se kuch suna ho


गुलज़ार साहब की शायरी

गुलज़ार शायरी
गुलज़ार शायरी

“दुनिया बहुत मतलबी हैं साथ कोई क्यों देगा, मुफ्त का यहाँ कफ़न नहीं मिलता, तो बिना गम के प्यार कौन देगा”

Duniya bahut batlabi hain saath koi kyo dega, Muft ka yaha kafan nahi milta, To bina gam ke pyaar kon dega.


“गलतफैमी में जीने का मजा ही कुछ और हैं, वरना हक़ीकते तो अक्सर रुला देती हैं”

Galatafaimi me jine ka maja hi kuch aur hain, Varana hakikate to aksar rula deti hain. 


“तेरी  आदत सी हो गयी थी मुझे नहीं तो मालूम हमें भी था की तू नसीब में नहीं हैं.”


Teri adat si ho gayi thi muze nahi to malum hame bhi tha ki tu nasib me nahi.


Gulzar Shayari | Gulzar Quotes On Life | Gulzar Poetry 

 गुलज़ार की शायरी
गुलज़ार की शायरी

“खाली हाथ श्याम आयी हैं, खाली हाथ जाएँगी, आज भी न आया कोई खाली हाथ लौट जाएँगी”

Khali haath sham aayi hain khali hath jayengi, Aaj bhi n aaya koi khali haath laut jayengi


“न जाने किस तरह का इश्क़ कर रहे हैं हम, जिसके हो नहीं सकते उसी के हो रहे हैं हम.”

Na jaane kis tarah ka ishq kar rahe hain ham, Jisake ho nahi sakate usi ke ho rahe hain ham.


“नींद आती थी जिसे तेरे साथ बात करने के बाद, सोच वो कैसे जी सकेगा तेरे रूठ जाने के बाद”

Nind aati thi jise tere sath baat karne ke baad, Soch vo kaise ji sakenga tere ruth jaane ke baad


Gulzar Shayari
Gulzar Shayari

“वन वे हैं जिंदगी की गली एक ही चांस हैं, आगे हवा ही हवा हैं अगर सांस हैं तो रोमांस हैं, यही कहते हैं यही सुनते हैं, जो भी जाता हैं, जाता हैं वो फिर से आता हैं”

One way hain jindagi ki gali ek hi chance hain, aage hava hi hava hain sans hain to romance hain, Yahi kahate hain yahi sunate hain, Jo bhi jaata hain, jJata  hain vo phir se ata hain.


“समेट  कर ले जाओ अपने झुटे वादों  के अधूरे सपने, अगली मोहब्बत में तुम्हे फिर इनकी जरुरत पड़ेंगी”


Samet kar le jaao apane zhute waadp ke adhure sapane, Agali mohabbat me tumhe inaki jarurat padengi.


“दोहराये जायेंगे न ये लमहात अब कभी, सपनो में न छूटेगा ये साथ अब कभी, मिलती हैं जिंदगी जब आप मुस्कुराये हैं, आँखों में हमने आपके सपने सजाये हैं.”

Doharaye jayenge n ye lamahat ab kabhi, Sapano me n chutenga ye sath kabhi, Milati hain jindagi jab aap muskuraye hain, Ankho me hamane apake sapane sajaye hain.


Gulzar Shayari | Gulzar Quotes On Life | Gulzar Poetry 

“हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते, वक्त की शाख से लम्हे नहीं तोडा करते, जिस की आवाज में सिलवट हो और निगाहो में शिकन ऐसी तस्वीर के टुकड़े जोड़ा नहीं करते”

Hath chute bhi to rishte nahi choda karte, Vakt ki shakh se lamhe nahi toda karte, Jisaki awaj me silavate ho aur nigaho me shikan aisi tasvir ke tukade nahi joda karte.


“दर्द इसका नहीं की आप मिल नहीं पाएंगे, फ़िक्र तो सिर्फ इस बात की हैं की हम भूल नहीं पाएंगे”


Dard isaka nahi ki aap mil nahi payenge, Fikr to sirf iss baat ki hain ki ham bhul nahi payenge.


“चाकू, खंजर, तीर, तलवार लड़ रहे थे की कौन ज्यादा गहरे घाव देता हैं , शब्द पीछे खड़े मुस्कुराह रहे थे”

Chaku, Khanjar, Tir, Talwar lad rahe the houn jada gahare ghav deta hain, Shabd piche khade muskurah rahe the.


 

Gulzar Poetry
Gulzar Poetry

“तकदीर के लिखे पर कभी शिकवा न करे, तू अभी इतना समजदार नहीं हुआ की रब के इरादे समझ सके”

Takadir ke likhe par kabhi shikava n kare, Tu abhi itana samajdar nahi huaa ki rab ke irade samajh sake.


“जिंदगी की राहो में मुस्कुराते रहो हमेशा, क्युकी उदास दिलो को हमदर्द तो मिलते हैं पर हमसफ़र नहीं”

Jindagi ki raho me muskurate raho hamesha, Kyuki udas dilo ko hamdard to milate hain par hamsafar nahi.


“तेरे रोने से इन्हे कोई फर्क नहीं पड़ता ऐ दिल, जिनके चाहने वाले ज्यादा हो वो अक्सर बेदर्द हुआ करते हैं.”

Tere rone se inhe koi fark nahi padata ye dil, Jinake chahane wale jyda ho wo aksar bedard huaa karte hain.


“सफर छोटा ही सही पर यादगार होना चाहिए, रंग सावला ही सही पर वफादार होना चाहिए”

Safar chota hi sahi par yaadgar hona chahiye, Rang sawala hi sahi par vafadar hona chahiye.


Gulzar Quotes
Gulzar Quotes

“इतनी ठोकरे देने का शुक्रिया ये जिंदगी , चलने का न सही संभालने का हुनर आ ही गया”

Itani thokare dene ka shukriya ye jindagi, Chalane ka na sahi sambhalane ka hunar to aahi gaya.


“इन सापों की बस्ती में जरा संभल के चल ” नादान”, यहाँ हर एक शख्स बड़े प्यार से डसता हैं”

Inn sapon ki basti me jara sambhal ke chal “Nadan”, Yaha har ek shaks bade pyaar se dasata hain.



“फिर कीसी मोड़ पर मिल जाऊ तो मुँह फेर लेना, पुराना इश्क़ हु फिर उभरा तो क़यामत होंगी”

Fir kisi mod par mil jau to muh fer lena, Purana ishq hu fir ubhra to kayamat hongi.


“ना ढूंढ मेरा किरदार दुनिया की भीड़ में, वफादार तो हमेशा तनहा ही मिलते हैं”

Naa dhundh mera kirdaar duniya ki bhid me, Vafadar to hamesha tanaha hi milte hain.


Gulzar Shayari | Gulzar Quotes On Life | Gulzar Poetry 

अगर आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमैंट्स कर अपने सुझाव जरूर दे , ताकि हमें ऐसीही अच्छी अच्छी पोस्ट आपके लिए लाने की प्रेरणा मिलती रहे.. धन्यवाद !

Leave a comment