50+ Swami Vivekananda Quotes In Hindi | स्वामी विवेकानंद के सुविचार 

Swami Vivekananda Quotes In Hindi | स्वामी विवेकानंद के सुविचार 

आज हम आपके लिए लेकर आए हैं विश्व विख्यात आध्यात्मिक गुरु और समाज सुधारक रामकृष्ण मिशन के संस्थापक स्वामी विवेकानंद के कुछ Swami Vivekanand Motivational Quotes In Hindi जो हम सबको जीवन में बहुत सारी सीख देते हैं।

 स्वामी विवेकानंद का मूल नाम (Swami Vivekananda Real Name) नरेंद्रनाथ दत्ता हैं जो एक प्रसिद्ध हिंदू आध्यात्मिक गुरु और समाज सुधारक थे। विवेकानंद पश्चिमी दुनिया में वेदांत और योग के Indian Philosophy की शुरूआत में एक प्रमुख व्यक्ति थे।  स्वामी विवेकानंद जी का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता भारत में हुआ था। स्वामी जी के पिता का नाम (Swami Vivekananda Father Name) विश्वनाथ था, जो कलकत्ता उच्च न्यायालय में एक वकील थे, और उनकी माता का नाम भुवनेश्वर देवी,था जो एक गृहिणी थीं। वह अपने गुरु रामकृष्ण से बहुत प्रभावित थे, स्वामी विवेकानंद अपने गुरु के विभिन्न विचारों से प्रभावित थे।

तो आइये चलिए जानते हैं विश्व विख्यात स्वामी विवेकानंद के कुछ प्रशिद्ध प्रेणादायक हिंदी सुविचार। 

 Swami Vivekanand Quotes In Hindi, Swami Vivekanand Thoughts In Hindi,

 स्वामी विवेकानंद के विचार 

“जब तक स्वयं पर दूसरे से ज्यादा Trust करते हैं तब तक आप परमेश्वर पर विश्वास नहीं कर सकते। “

“एक Time पर हमेशा एक ही काम किया करो और उस कार्य को करते Time अपनी पूरी आत्मा को लगा दो आपका सफल होना तय हैं। “

“अपने Life में Risk जरूर लें, अगर आप जीतते हैं तो आप एक लीडर बन सकते हैं! यदि आपकी हार होती हैं, तो आप दुसरो के लिए एक मार्गदर्शक साबित होंगे।”

Swami Vivekananda Quotes In Hindi

” अपने पैरो पर खड़े हो जाओ, मजबूत बनो पूरी जिम्मेदारी अपने कंधों पर लो और जान लो कि आप स्वयं ही अपने भाग्य के नवनिर्माता हैं। आप जो भी शक्ति और सफल होना चाहते हैं वह आपके भीतर ही मौजूद है। “

” हमारा मनना है की यह संसार हमारे लिए क्या बनाता है। हमारे विचार किसी भी चीज को खूबसूरत और बदसूरत बनाते हैं। यह पूरा संसार हमारे अपने मस्तिष्क में है। चीजों को सकारात्मक रूप से देखना बहुत जरुरी हैं। “

“जो कुछ भी आपको Physically, Mentally और Spritual रूप से कमजोर बनाता है, उसे poision समझ कर उसका परित्याग करें। “

” अपने मन की एकाग्रता शक्ति ज्ञान के खजाने घर की एकमात्र कुंजी की तरह है। “

“खुद पर पूर्ण विश्वास रखना ही आपकी जीत को सुनिश्चित करता हैं। “

“हर क्रिया जो हमें अपने दिव्य स्वभाव को अधिक से अधिक प्रकट करने में मदद करती है, वह अच्छी है । हर क्रिया जो पीछे हटाती है वह बुराई है। “

” किसी की गलती को बताने से अच्छा आप अपने अंदर की बुराइयों को दूर करें। “

“जैसे ही आप आवाज जानते हैं और समझते हैं कि यह क्या है, पूरा दृश्य बदल जाता है। वही दुनिया जो माया का भयानक युद्धक्षेत्र था, अब कुछ अच्छा और सुंदर में बदल गया है। “

“दुनिया में वह इंसान सबसे ज्यादा सीखता हैं जो सबसे ज्यादा बार हारा हो इसलिए हार से कभी न डरे बल्कि आगे बढ़ते जाए। “

“अगर आप सोचते हैं की आप जीत नहीं सकते तो आप किसी भी हाल में जीत ही नहीं सकते। “

“वह इंसान हमेशा श्रेष्ठ है जो किसी भी परिस्थियों से परेशान नहीं होता है। “

“वह इंसान सच मायने में सफल हैं जो पूरी तरह से निःस्वार्थ भाव से किसी की मदद करता है। “

“सबसे महान कार्य अपने स्वभाव के प्रति सच्चा और ईमानदार बने रहने में है, अपने आप में विश्वास बनाए रखें।”

“हंसमुख मन सुदृढ़ रहता है और मजबूत दिमाग हजार कठिनाइयों के माध्यम से अपना रास्ता बनाता है। “

” हमारे मन की ऊर्जा सूर्य के प्रकाश की तरह होती हैं जब केंद्रित होता हैं तब वह प्रकाशित होता हैं। “

“यदि स्वयं पर भरोसा करना सीख लिया तो मुझे यकीन है कि बुराइयों और दुखों का एक भाग खुद ही गायब हो जाएगा। “

“अपनी ज़िन्दगी को लोगो की भलाई और खुशी के लिए समर्पित करना एक मात्र धर्म है। स्वयं के लिया किया गया कार्य धर्म नहीं हो सकता। “

” हज़ारो वर्षो से चलने वाले तप आधुनिक युग में अब पूरी तरह सफल नहीं हैं। आज के युग में तप की जगह दूसरे प्राणियों व मनुष्यो की मदद करना ज्यादा यथार्थ हैं। “

Swami Vivekananda Quotes In Hindi | स्वामी विवेकानंद के सुविचार 

“जो आग हमें गर्म करती है हमें ऊर्जा देती वह हमें भी जला कर खाक भी सकती है पर यह दोष आग का नहीं है स्वयं का होगा।

 “सच्चा दिखना से ज्यादा महत्वपूर्ण सच्चा होना होता हैं। “

” इस Universe की सारी शक्तियां पहले से ही मनुष्य के भीतर मौजूद हैं। पर दुर्भाय से लोग आंखों को बंद कर लेते हैं और रोते हैं कि जीवन  में तो बहुत अंधेरा है। “

“एक चीज के लिए लालसा, आप इसे प्राप्त करेंगे, लालसा का त्याग करें, वस्तु अपने आप आपका अनुसरण करेगी। “

“सत्य की खोज करना आसान नहीं यह आसानी से किसी को नहीं मिलता इसमें धैर्य और जानने की प्रबल इच्छा का होना अति आवश्यक हैं। “

“शक्ति जीवन है, कमजोरी मृत्यु है, विस्तार जीवन है, संकुचन मृत्यु है, प्रेम जीवन है, घृणा मृत्यु है। “

“उठो, जागो और तब तक मत रोको जब तक लक्ष्य तक नहीं पहुँच जाते। “

“प्रत्येक कार्य को इन चरणों से गुजरना पड़ता है उपहास, विरोध और फिर स्वीकृति। जो लोग अपने समय से आगे सोचते हैं उन्हें गलत समझा जाना निश्चित है। “

” अपने परमेश्वर के प्रति प्रेम और स्नेह का यह भाव वास्तविकता में एक है जो आत्मा को बांधता नहीं है बल्कि उसे  प्रभावी रूप से उसके सभी बंधन को तोड़ता है। “

“मन शरीर का सूक्ष्म हिस्सा है, आपको अपने दिमाग और शब्दों में बहुत ताकत बनाए रखना चाहिए। “

” ध्यान व तप मूर्ख लोगो को भी संत बना देता है परन्तु दुर्भाग्य से मूर्ख कभी ध्यान नहीं करते हैं। “

“अगर मैं अपने अनगिनत बुरे कर्मो के बावजूद स्वयं से प्यार करता हूं, तो मैं कुछ बुराई के लिए किसी और से कैसे नफरत कर सकता हूं। “

“दिन में कम से कम  एक बार खुद से बात करें, अन्यथा आप इस दुनिया में एक महान व्यक्ति से मिलने से चूक जायेंगे। “

“अपने आप में विश्वास रखो, महान दृढ़ विश्वास महान कर्मों की जननी हैं। “

“जो स्वार्थी है वह अनैतिक है, और जो निःस्वार्थ है वह नैतिक है। “

“आप जो भी सोचते हैं कि आप वही बन जाते हैं। यदि आप खुद को कमजोर समझते हैं, तो आप कमजोर होंगे। यदि आप खुद को मजबूत समझते हैं, तो आप  मजबूत होंगे। “

” दिल और दिमाग के बीच अगर आपको किसी एक को चुनना पड़े तो आप अपने दिल की सुने।

निष्कर्ष:- इस तरह आज आपने जाना की Swami Vivekanand Quotes In Hindi। आशा करते हैं आपको यह Swami Vivekanand Thoughts In Hindi अच्छा लगा होगा आपको यह कैसा लगा नीचे कमेंट में जरूर बताये।साथ ही आप Swami Vivekanand Suvichar In Hindi को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में भी शेयर जरूर करें।अगर आपके मन किसी प्रकार सवाल हैं या आप हमसे जुड़ना चाहते हैं तो इसके लिए आप हमारे सोशल मीडिया अकॉउंट Facebook या इंस्टाग्राम को लाइक या फॉलो भी कर सकते हैं। यहाँ आपको आपके सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे।  यह आर्टिकल जगत वर्मा द्वारा लिखा गया जो की heartbeatsk.com/ के लेखक हैं। यह Dilshayarana.com पर लिखा गया हमारा पहला गेस्ट पोस्ट हैं आशा करते हैं आप सभी को पसंद आया होगा।

Leave a comment